Author avatar
Shivram Mehta

प्रेरणा शोध = मेरे जीवन में सबसे बड़ा बदलाव जेल 19 साल की उम्र में पारिवारिक विवाद के कारण मजबूरी में मर्डर केस में अपराध हुआ है। सन् 2006 से 2021 तक निरंतर सजा भुगत कर जेल में अच्छा आचरण से मध्य प्रदेश प्रशासन ने सेंट्रल जेल बड़वानी से दिनांक 26 जनवरी 2021 में रिहा किया गया है। लेकिन उसके उपरांत में जेल में कक्षा 10 वी गणित राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय की पुस्तक पढ़ा, उस पुस्तक में महान भारतीय गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजम कि जीवनी पढ़ा उसके बाद मेरे दिमाग में अत्यधिक गणित में रुचि पैदा हो गई। इसलिए मेरी एक राय है, विश्व के प्रख्यात महापुरुषो की जीवनी से कई जीवन के वास्तविक तथ्यों को प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए वैज्ञानिक अकल्पनीय को परिकल्पना कर दुनिया को नई तस्वीर लाकर प्रस्तुत करता है।

Books by Shivram Mehta
Other author
Publish Book Now
close slider