• img-book

    VK Pingal

ISBN: 9789354728945

Uljha Jeevan Apne Dimag Se Swayam Hal Kare

by: VK Pingal

आंतरिक द्वंद, अंतर्मन की उठापटक, बाहरी दुनिया की अव्यवस्थित व्यवस्था, जीवन में कुछ न कर पाने का डर वर्तमान और भविष्य दोनों को ही निगल जाता है। जीवन की ऐसी उलझनें कि कौन सही और कौन गलत? भीतर की पूरी संभावित सुव्यवस्था जो इंसान के जीने का उद्देश्य और जीने की वजह होनी चाहिए लेकिन स्वार्थ के खातिर, ईर्ष्या, द्वेष, लोभ के खातिर परेशानियां झेल-झेलकर मन की उलझनों से जीवन इस कदर उलझता ही जाता है कि फिर कभी सुलझ नहीं पाता। तो आइए जीवन में ऊपर उठने की अथाह संभावनाओं के बीच मन में किसी तरह का बोझ नहीं रखेंगे तो मानसिक दृष्टि से स्वस्थ रहेंगे और शारीरिक रूप से श्रम किया तो शारीरिक दृष्टि से स्वस्थ रहेंगे।

255.00

500 in stock

Quantity:
Books of VK Pingal
About This Book

    आंतरिक द्वंद, अंतर्मन की उठापटक, बाहरी दुनिया की अव्यवस्थित व्यवस्था, जीवन में कुछ न कर पाने का डर वर्तमान और भविष्य दोनों को ही निगल जाता है। जीवन की ऐसी उलझनें कि कौन सही और कौन गलत? भीतर की पूरी संभावित सुव्यवस्था जो इंसान के जीने का उद्देश्य और जीने की वजह होनी चाहिए लेकिन […]

  • Details
  • Meet the Author
  • Reviews(0)
Details

ISBN: 9789354728945
SKU: 7483
Publisher: BlueRose Publishers
Publish Date: 2022
Page Count: 235

Meet the Author
Blue rose author
पिछले एक दशक से भी अधिक का समय लेखक ने इंटीरियर सुपरवाइजर के रूप में भारत के जाने माने शहरों पूणे, मुम्बई, गोवा, नागपुर, कोलकाता, हैदराबाद, बैंगलोर और दुबई की विदेश यात्रा के दौरान गुजारा है। लेखक के अनुसार अलग-अलग माहौल और वहां के लोगों के जीवन को देखकर ये समझने में देर नहीं लगी कि लोगों के मन की उलझनों की मूल समस्या दिखावे की जिंदगी जीकर मन को अशांत कर देने से है। लोग दूसरों की ज़िंदगी में झांककर अपने ही मन की बेचैनी से ख़ुद के जीवन में डिप्रेशन यानी अवसाद की जड़ें गहराई तक जमा देते हैं। जबकि उनका वास्तविक जीवन सुखप्रद है भी या नहीं, इसे समझना नहीं चाहते, बस ऊपर-ऊपर से जो दिखता है वही सच मान लेते हैं। दिखावटी जीवन से बाहर निकलकर सच्चे और वास्तविक जीवन जीने के उद्देश्य से लेखक वीके पिंगल द्वारा यह पुस्तक लिखी गई है।

Additional information

Weight 0.35 kg
Dimensions 20.32 x 12.7 x 2.5 cm

“Uljha Jeevan Apne Dimag Se Swayam Hal Kare”

There are no reviews yet.